गर्लफ्रेंड की सील जयपुर में तोड़ी Girlfriend ke sath chudai

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम रजत है और आज में आप सभी को अपनी एक सच्ची चुदाई की कहानी सुनाने जा रहा हूँ, जिसमें मैंने अपनी वर्जिन गर्लफ्रेंड को पहली बार चोदा और उस समय मेरा भी उसके साथ यह पहला सेक्स रहा था और अब आप सभी चाहने वालों को वो घटना पूरी विस्तार से सुनाता हूँ और जो मेरी पहली चुदाई होने की वजह से आज तक मेरे दिमाग में बसी हुई है.
दोस्तों उसका नाम संज्ञा है और वो दिखने में बहुत ही सेक्सी और सुंदर लड़की है. में उसका बहुत बड़ा चाहने वाला हूँ और मुझे वो बहुत अच्छी लगती थी, उसके फिगर का साईज़ 32-30-34 है. दोस्तों यह सब मुझे इसलिए पता है, क्योंकि मैंने उससे एक दिन ऐसे ही बातों बातों में पूछा था कि उसका साईज क्या है और उसने मुझे बताया था.दोस्तों जब हम दोनों बोर्डिंग स्कूल में थे तो बहुत ही कम मिल पाते थे और तब हम फोन पर बातें भी किया करते थे. फोन पर हमने बहुत बार ओरल सेक्स भी किया था और हम अलग अलग सेक्शन में थे, लेकिन हमे ब्रेक में मौका मिलता था तो हम छुपकर मिलते भी थे और स्मूच तो जरुर ही करते ही थे और मैंने बहुत बार अच्छा मौका देखकर उसके बूब्स को भी बहुत दबाया और कई बार चूसे भी, लेकिन शर्ट के ऊपर से. दोस्तों में कई बार उसके साथ सेक्स करना चाहता था, लेकिन मुझे कोई अच्छा मौका नहीं मिल रहा था और फिर एक दिन सभी बोर्डिंग स्कूल का टूर जयपुर चार दिन के लिए गया और हमें सुबह तैयार होकर निकलना था. Girlfriend ke sath chudai

फिर हम सभी तैयार हो गये और जयपुर जाने वाली बस में बैठ गये, हमारे साथ दो सर और दो मेडम भी थी और सभी लड़के लड़कियाँ एक दूसरे के साथ बिल्कुल घुल मिलकर बैठ गये. दोस्तों पहले तो मेरी गर्लफ्रेंड कुछ देर अपनी एक दोस्त के साथ बैठी थी और फिर कुछ देर बाद वो रास्ते में वहां से उठकर मेरे पास आकर बैठ गई. उस समय मेरे साथ एक छोटा सा बच्चा भी बैठा हुआ था. फिर मैंने उसे कुछ देर बाद उसकी दोस्त के पास भेज दिया और अब हम दोनों उसके आईपॉड से गाने सुनने लगे और फिर शाम के करीब पांच बजे हमारी बस रुकी और अब टीचर्स हम सभी से बोली कि अगर किसी को यहाँ से कुछ लेना है तो नीचे उतरकर ले लो.

फिर में उठकर बाहर निकल गया. फिर मैंने टॉयलेट किया और मैंने पास की एक दुकान पर जाकर एक सिगरेट का पैकेट ले लिया और अब मैंने उसमें से एक सिगरेट निकालकर पी ली और खाने के लिए नमकीन ले आया और में फिर से अपनी गर्लफ्रेंड के पास जाकर बैठ गया. फिर कुछ देर बाद उसे पता चल गया कि मैंने सिगरेट पी है तो वो मेरी इस हरकत पर मुझसे बहुत गुस्सा हो गई तो मैंने उसे बहुत मनाया, लेकिन मुझे बहुत समय लगा.

अब कुछ घंटो में रात हो गई थी और मैंने उस बात का फायदा उठाते हुए उसके गालो पर किस किया और उसने भी मेरे गाल पर किस किया और अब में जोश में आ गया और बहुत गरम हो गया और मैंने उसे कहा कि में तुमसे बहुत प्यार करता हूँ और उससे यह बात बोलकर मैंने उसे बहुत टाईट हग किया और उसे चूमने लगा और वो भी अब मेरा पूरा पूरा साथ दे रही थी. फिर मैंने उसके ट्राउज़र में अपना एक हाथ डाल दिया और वो हटाने लगी, लेकिन में अब कहाँ हटने वाला था.

फिर मैंने उसकी पेंटी के ऊपर हाथ लगाया तो मैंने महसूस किया कि वो पूरी गीली थी. फिर मैंने तुरंत अपना हाथ बाहर निकाला और सूंघा तो मुझे एक अजीब सी मदहोशी छाने लगी थी. फिर में ऐसे ही लेट गया और रात को बस एक बजे के करीब जयपुर पहुंची और हम सभी उतरकर अपने अपने रूम में चले गये. वहां पर लड़के और लड़कियों के अलग अलग कमरे थे. फिर मैंने अपने रूम में जाकर संज्ञा को फोन किया कि में तुम्हारे साथ सोना चाहता हूँ और मैंने उससे आग्रह भी किया. फिर वो मुझसे बोली कि में कल ही कुछ कर सकती हूँ और में अब उसकी इस बात पर उससे बहुत गुस्सा होकर सो गया और सुबह हम सभी थोड़ा देरी से उठे और हम सभी खाना खाकर बाहर घूमने चले गये. Girlfriend ke sath chudai

फिर कुछ देर बाद मैंने महसूस किया कि संज्ञा मेरे साथ साथ घूमना चाहती थी, लेकिन में उससे अब भी बहुत नाराज था तो इसलिए मैंने उसे अपने साथ नहीं रखा और अब में जहाँ जहाँ पर जाता तो वो मेरे पीछे चली आती, लेकिन में नहीं माना. फिर थोड़ी देर बाद मैंने उसकी तरफ देखा कि वो रो रही थी, में उसके पास गया और मैंने उसको हग किया और मैंने उसके माथे पर किस किया और उसके बाद हम साथ ही रहे. तब मैंने उससे कहा कि आज में तुम्हारे साथ सोऊंगा.

फिर उसने मुस्कुराकर मुझसे हाँ कहा और कुछ घंटो के बाद हम सब वापस आ गए. फिर हमने खाना खाया और अपने रूम में वापस आ गए, करीब रात के 11 बजे उसका मेरे पास फोन आया और उसने मुझे अपने रूम की पीछे वाली खिड़की से अंदर बुलाया तो में चला गया और फिर मैंने देखा कि उस समय वहां पर बस वो अकेली थी और उसे अकेला देखकर में बहुत आश्चर्यचकित था. फिर मैंने उससे पूछा कि तुम्हारी और दोस्त कहाँ है? तो उसने मुस्कुराकर कहा कि मैंने उन्हें दूसरे रूम में भेज दिया है.

मैंने उसको हग किया और में उसके होंठो को चूसने लगा और बहुत लम्बे समय से हम यह सब कर रहे थे तो इसलिए अब हमारे हाथ एक दूसरे के जिस्म को छू रहे थे, जिसकी वजह से हम दोनों धीरे धीरे जोश में आ रहे थे. फिर मैंने लाईट को बंद कर दिया और अब में उसको बेड पर लेकर खुद भी उसके पास लेट गया.

अब में उसकी गर्दन पर किस करता तो कभी होंठो पर कभी कानों पर तो कभी गालों पर और उधर मेरा एक हाथ उसके छोटे, लेकिन बहुत मुलायम एकदम गोल गोल बूब्स को मसल रहा था ज़ोर ज़ोर से दबा रहा था और वो मेरे लंड को मेरे ट्राउज़र के ऊपर से ही मसल रही थी और में इस बीच दो बार झड़ चुका था और वो भी एक बार झड़ चुकी थी. फिर मैंने उसकी शर्ट को उतार दिया और अब में उसके बूब्स को ब्रा के ऊपर से ही चूमने, चूसने, दबाने लगा था और वो मेरे सर पर हाथ घुमा रही थी, उस समय हम दोनों को एक अजीब सा नशा हो गया था और जिसमें हम दोनों बिल्कुल पागल हो चुके थे और में अब उसके बूब्स को लगातार दबाता रहा, जिसकी वजह से वो जोर ज़ोर से कराह रही थी. उसकी वो सेक्सी आवाजे मुझे और भी जोश से भर रही थी. Girlfriend ke sath chudai

फिर कुछ ही सेकिंड में मैंने तुरंत उसकी ब्रा को भी उतार दिया और जब उसके वो बूब्स मेरे सामने आए तो में अब बिल्कुल पागल हो गया. में उन पर एकदम टूट पड़ा और में उन्हें अपने दोनों हाथों से बहुत ज़ोर से दबाता रहा, वो अजीब सी आवाज़ निकाल रही थी, आऊफफफफ्फ़ आआआहह आईईईई प्लीज थोड़ा धीरे करो, मुझे बहुत दर्द हो रहा है यह कहने लगी और चीखने चिल्लाने लगी. अब मैंने सही मौका देखकर उसे नीचे से भी पूरा नंगा कर दिया और उसने भी मेरे सारे कपड़े उतार दिए और हम दोनों वर्जिन थे. मैंने पहले बहुत सारी ब्लूफिल्म देख रखी थी तो में उसी तरह से रज़ाई के नीचे जाकर अब उसकी चूत को चाटने लगा. दोस्तों उसकी अजीब सी महक और एक अजीब सा स्वाद था, लेकिन में जोश में आकर लगातार चूसता रहा.

तभी मैंने महसूस किया कि वो मेरे कुछ देर चाटने के बाद झड़ चुकी थी और अब उसने अपना सारा गरम गरम पानी मेरे मुहं पर डाल दिया, लेकिन फिर भी में उसकी चूत को लगातार चाटता रहा और उसने अपनी गोरी गोरी जांघो के अंदर मेरा सर दबा दिया और फिर आगे पीछे होने लगी. अब मैंने उसकी चूत के अंदर अपनी एक ऊँगली को डाल दिया तो उसकी वजह से उसको हल्का सा दर्द हुआ और में पांच मिनट तक अपनी एक ही ऊँगली को डालता रहा, वो आहह उउहह ओफ़फ्फ़ और तेज तेज साँसे लेने लगी.

फिर में उठा और उसे स्मूच करने लगा और अब मैंने उससे कहा कि तुम भी अब मेरे लंड को चूसो तो वो अब मेरा लंड चूसने लगी, मुझे बहुत अच्छा महसूस हो रहा था, लेकिन में भी उसके चूसने के थोड़ी ही देर बाद उसके मुहं में झड़ गया और अब थककर उसके ऊपर लेटकर उसके बूब्स को चूसने लगा और उसकी चूत में ऊँगली करने लगा और जिसका वो भी मेरे साथ पूरा पूरा मजा ले रही थी, वो भी मेरे लंड पर अपने एक हाथ से सहला रही थी. Girlfriend ke sath chudai

फिर कुछ देर तक यह सब करने के बाद हम एक बार फिर से तैयार हुए. में उसके ऊपर ही लेटा रहा और अब मैंने उससे कहा कि तुम मेरा लंड अपनी चूत के मुहं पर लगाओ. फिर उसने तुरंत ऐसा ही किया और मैंने हल्का सा धक्का दे दिया, लेकिन मेरा लंड अंदर नहीं गया, क्योंकि वो भी अब तक वर्जिन थी और चार पाँच ज़ोर से ज़ोर धक्के लगाने के बाद अंदर चला गया और वो भी आधा, लेकिन मेरी तरह उसे भी अब बहुत दर्द हो रहा था, क्योंकि मेरा भी यह पहला सेक्स अनुभव था और अब वो दर्द से एकदम तड़प उठी और मचलने लगी चीखने चिल्लाने लगी और मुझसे बार बार अपनी चूत से लंड को बाहर निकालने को कहा तो मुझे धक्का देकर और अपने ऊपर से हटाने की उसने बहुत बार कोशिश की, लेकिन मैंने उसको नहीं छोड़ा और में उसको बहुत कसकर पकड़े रहा और उसे धीरे धीरे चोदता रहा.

अब वो बहुत ज़ोर से रोने लगी और मुझसे कहने लगी कि प्लीज अब इसे बाहर निकाल लो उह्ह्हह्ह आह्ह्ह्हह्ह में इस दर्द से मर जाउंगी प्लीज मुझे बहुत दर्द हो रहा है, लेकिन मैंने ऐसा नहीं किया और अब मैंने उसको स्मूच करते हुए एक ज़ोर का धक्का मारा दिया, जिसकी वजह से मेरा 6 इंच लंबा लंड पूरा का पूरा उसकी चूत के अंदर चला गया और वो उस दर्द से छटपटाने लगी और बिन पानी की मछली की तरफ तड़पने लगी, लेकिन मैंने उसे पूरी तरह से अपनी बाहों में बंद कर रखा था.

फिर कुछ देर बाद वो थोड़ा सा शांत हो गई और में उसे धीरे धीरे धक्के देकर चोदने लगा. फिर कुछ देर बाद उसे भी मेरे साथ साथ अपनी चुदाई का मजा आ रहा था और उस पूरे रूम में चुदाई की आवाजे और महक फेल रही थी और मेरे आंड जब उसकी चूत के होंठ पर लगते तो पुकच्छ पूउक्छ पूछ पूछ की आवाज़ आती और अब वो मेरी कमर पर अपने दोनों हाथ रखकर खुद भी आगे पीछे होती और आहह औहह ओफफफफफूओ ऊह्ह्हह्ह्हह ऐसी आवाज़ निकालती. दोस्तों थोड़ी देर के बाद में उसकी चूत के अंदर ही झड़ गया और फिर हम ऐसे ही हग करते करते ना जाने कब सो गये. सुबह उसने मुझे जल्दी उठाया और फिर में अपने रूम में जाकर सो गया.

फिर मैंने उसी शाम को उसे एक गर्भनिरोधक गोली लाकर दे दी और अब हम अपने इस नए रिश्ते से बहुत खुश थे. दोस्तों उसके बाद भी हमारे बीच सेक्स बहुत बार हुआ और वो हमेशा मेरी चुदाई से खुश थी और इस बात का उसकी सभी दोस्त को भी पता था कि हमारे बीच उस रात को सेक्स हुआ है, क्योंकि वो सभी बहुत समझदार थी और उस रात की पहली चुदाई ने उसका चलने का तरीका बिल्कुल बदल दिया था और में भी उसको देखकर समझ चुका था कि अब इसकी सील टूट चुकी है और में मन ही मन बहुत खुश था, क्योंकि मुझे अपनी गर्लफ्रेंड की पहली चुदाई और उसकी सील तोड़ने का मौका जो मिला था. Girlfriend ke sath chudai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *